watch sexy videos at nza-vids!
sex stories
टीचर की गर्लफ्रेंड को पटाकर चोदा

प्रेषक : पारस …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम पारस है और में दिल्ली से हूँ, ये मेरी एक सच्ची कहानी है जो कि आज से 1 साल पुरानी है। इस कहानी में आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने अपने टीचर की गर्लफ्रेंड को पटाकर चोदा? सबसे पहले आप लोगों को अपने बारे में बताता हूँ। में दिल्ली में रहता हूँ और एक नामी इन्स्टिट्यूट से एक एनिमेशन का कोर्स कर रहा हूँ और जिस लड़की को मैंने चोदा उसका नाम अनामिका है। अब में आपको बोर किए बिना सीधा कहानी पर आता हूँ।

दोस्तों में दिल्ली में नया था और अपने इन्स्टिट्यूट में भी नया था। फिर कुछ दिन के बाद एक लड़की किसी दूसरी ब्रांच से ट्रान्सफर लेकर आई, उसको देखकर सबका मुँह खुला रह गया। फिर कुछ ही दिनों में मेरी उससे दोस्ती हो गयी, वो बहुत परेशान रहती थी। जब भी में उससे पूछता था कि क्या बात है? तो वो बताती नहीं थी। एक दिन मैंने उसको कसम देकर पूछा तो उसने मुझे उसी इन्स्टिट्यूट के दूसरी ब्रांच के टीचर के साथ रिलेशनशिप के बारे में बताया और साथ में ये भी बताया कि वो उसके साथ बिल्कुल खुश नहीं है और वो केवल उसको चोदना चाहता है। फिर मैंने उसकी हेल्प की और उसका उस टीचर से रिलेशनशिप ख़त्म करा दिया। अब वो मुझ पर बहुत विश्वास करती थी। फिर कुछ दिन के बाद मैंने उसको प्रपोज़ कर दिया और उसने भी हाँ कर दिया। जिस दिन मैंने उसको प्रपोज़ किया उसके दो दिन के बाद मेरा बर्थ-डे था। फिर हम घूमने गये और जब शाम को वापस आए तो मैंने उससे बोला कि में उसको घर छोड़ आता हूँ तो उसने मना कर दिया और बोली कि वो मेरे साथ ही मेरे फ्लेट में रहना चाहती है।

फिर जब मैंने उससे कारण पूछा तो उसने मेरी बात काटते हुए मेरे होठों को अपने होठों में भर लिया और मेरे मुँह में अपनी जीभ डालकर मेरी जीभ के साथ खेलने लगी और साथ ही में उसका एक हाथ मेरी पेंट के ऊपर से मेरे लंड को सहला रहा था। सब कुछ इतना जल्दी हुआ कि मुझे कुछ समझ ही नहीं आया। फिर क्या था? में भी उसके ऊपर टूट पड़ा। फिर मैंने किस तोड़ते हुए उसको धक्का दे दिया और वो दीवार से टकरा गयी और तब मैंने उसको दीवार के सहारे चिपकाकर किस करना स्टार्ट कर दिया। साथ ही में उसके बूब्स भी उसके टॉप के ऊपर से ही दबाने लगा। फिर कुछ देर तक ऐसे ही चलने के बाद उसने मुझे बेड पर धक्का दे दिया और वो टावल लेकर बाथरूम में भाग गयी। फिर उसने वापस आने में बहुत वक़्त लगा दिया, लेकिन जब वो वापस आई तो नज़ारा देखकर तो मेरा लंड मेरी पेंट को फाड़कर बाहर आने के लिए तड़प उठा। उसका रंग गोरा, उसका फिगर 28-34-30, वो उस पारदर्शी नाईटी में परी लग रही थी।

फिर वो मेरे पास आई और बोली कि अब वो मुझे मेरे बर्थ-डे का गिफ्ट देगी। फिर उसने मेरी आखें बंद की और मेरे हाथ एक कपड़े से बाँध दिए और उसके बाद उसने मेरे सारे कपड़े उतारे और अपने कपड़े भी उतार दिए। अब वो मेरे मोटे और लंबे लंड को देखकर खुश हो गयी और तुरंत अपनी चूत पर रगड़ना शुरू कर दिया। फिर उसने मेरे पूरे जिस्म को चूमा और चाटा, लेकिन मेरे लंड को इतनी बुरी तरह से तड़पाने के बाद भी उसको छुआ नहीं और उसी वक़्त मेरे हाथ खुल गये। फिर क्या था? मैंने अपना दूसरा हाथ भी खोला और अपनी आखों पर से पट्टी हटाई और में उसको देखता ही रह गया। वो क्या लग रही थी? वो 22 साल का माल, बड़े-बड़े बूब्स, उभरी हुई बिना चुदी चूत, अब मेरे मुँह में पानी आ गया, लेकिन उसे पता नहीं था कि मेरे हाथ खुल चुके है और में उसे देख रहा हूँ। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर मैंने एक झटके में उसको बेड पर पटकते हुए उसको किस करना शुरू कर दिया, लेकिन मैंने भी उसके बूब्स और चूत को छुआ तक नहीं। फिर वो बोली कि मेरी जान अपनी रानी को इतना मत तड़पाओ और मेरे बूब्स को चूसो और दबाओ और आज मेरी चूत का भी भोसड़ा बना दो मेरे राजा। मुझे चोद-चोद कर अपनी रानी बना लो। उसके मुँह से यह सुनकर में पागल सा हो गया। बस फिर मैंने एक हाथ से उसके एक बूब्स को मसलना और दूसरे बूब्स को दबा-दबाकर चूसना शुरू कर दिया और अब वो मेरे लंड को अपनी चूत पर रगड़ रही थी। फिर कुछ ही देर में वो मुझसे भीख माँगने लगी कि में अपना लंड उसकी चूत में डाल दूँ, लेकिन मैंने उसकी एक नहीं सुनी और उसको बोला कि मेरी जान आज में तुमको तभी चोदूंगा जब तुम मेरे लंड महाराज को चूस-चूसकर खुश कर दोगी। फिर उसने मेरे लंड को अपने मुँह में लिया और आइसक्रीम की तरह चूसने लग गयी। फिर 20 मिनट तक चूसने के बाद हम 69 पोज़िशन में आ गये और कब एक घंटा बीत गया। हमें पता ही नहीं चला और इस दौरान में एक बार और वो 5 बार झड़ चुकी थी। अब पूरे कमरे में बस, आअहहा उउफफफ्फ़ ययययसस्सस्ड, मेरे राजा चूसो और जोर से चूसो, यही आवाज़ें गूँज रही थी।

फिर मैंने उसकी गांड के नीचे एक तकिया लगाया और उसके पैर फैलाकर उसकी चूत पर अपना लंड रखा और अन्दर डालने की कोशिश करने लगा, लेकिन वो फिसल गया। फिर मैंने दूसरी कोशिश की और इस बार एक ज़ोर के झटके के साथ 3 इंच लंड उसकी चूत में उतार दिया। अब उसकी आँख से आंसू निकल आए और वो मुझे धक्का देकर हटाने की कोशिश करने लगी और चिल्लाने लगी कि छोड़ हरामी। मेरी चूत की माँ चोद दी कुत्ते, मुझे छोड़ दे, में मर जाउंगी, लेकिन मैंने उसकी एक नहीं सुनी एक और ज़ोरदार झटके के साथ पूरा 7 इंच का लंड उसकी चूत में उतार दिया और वो पसीने में पूरी भीगी हुई चिल्ला रही थी कि आआहह छोड़ दो मुझे नहीं तो में मर जाउंगी। फिर में उसके बूब्स को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा और ऐसे ही इंतज़ार किया। अब उसकी सील टूटने की वजह से उसे खून भी निकल रहा था और उसको दर्द भी हो रहा था।

फिर जब उसको कुछ आराम मिला तो मैंने अपना लंड उसकी चूत में अंदर बाहर करना शुरू कर दिया और वो भी अपनी गांड उछाल-उछाल कर मेरा साथ देने लगी। अब। वो बार-बार बोल रही थी कि आअहहा आअहह बेबी फुक मी, बहुत मजा आ रहा है उफ़फ्फ़ आआह्ह्हह्ह और 20 मिनट की चुदाई के बाद वो 4 बार झड़ गयी थी। फिर उसने मुझसे बोला कि वो हमेशा से डॉगी स्टाइल मे चुदना चाहती थी। फिर मैंने उसे डॉगी स्टाइल में होने को बोला और अपना पूरा लंड एक ही झटके में उसकी चूत में उतार दिया। अब 15 मिनट के बाद में झड़ने वाला था। मैंने उससे पूछा कि कहाँ डालूं? तो उसने मेरा सारा पानी पी लिया। उस रात मैंने उसको 4 बार चोदा और उसकी गांड भी मारी और तब से लेकर मैंने उसको 6 महीने तक रोज़ चोदा ।।

धन्यवाद …


| HOME |
(c) MeriSexKahani
41